इस शहर की आबोहवा
कुछ बदल सी गयी अब
अनजान से कोहरे में लिपटी
सडके न जाने क्युं पराई लगती है

नेहा
 

3 comments:

pankaj gogte said...

:) mashallah ..............

शिनु said...
This comment has been removed by the author.
शिनु said...

धन्यवाद